Naadan Chota Hathi | नादान छोटा हाथी | Hindi Kahani

Naadan-Chota-Hathi | नादान छोटा हाथी | Hindi Kahani:

 

naadan chota hathi hindi kahani,hindi moral stories, hindi kahani, fairy tales in hindi, kahaniya hindi, hindi mein kahaniya, new kahaniya, new moral stories in hindi, panchatantra stories in hindi, moral stories for kids in hindi, hindi short stories for class 1, hindi kahani for kids, hindi story for class 2, small story in hindi, short moral stories in hindi, moral stories for childrens in hindi,
naadan-chota-hathi-hindi-kahani

(motivational story in hindi)

एक बहुत घना जंगल था । उस जंगल में कुछ जानवर आपस में मिल जुलकर रहते थे जैसे शेर, लोमड़ी, हाथी, घोड़ा, खरगोश और कौवा । एक दिन हाथी के छोटे बच्चे को खेलने का बहुत मन हुआ और वह को कौवासे जिद करने लगा । मुझे खिलौनों में मेरे साथ कोई खेलता क्यों नहीं । मुझे खेलना है, कौवा बहुत बूढ़ा हो चुका था । अरे मैं नहीं खेल सकता लेकिन मैं तुम्हारी मदद करता हूं । बाकी जानवरों को बुलाता हूं तुम्हारे साथ खेलेंगे ।

Also Read :   FAIRY TALES

हाथी ने बोला हां ये ठीक रहेगा । इस तरह से कौवाने बाकी जानवरों को बुलाया और कहा आ जाओ कुछ देर खेल लूं , देखो छोटे हाथी कब बहुत दिल कर रहा है और इस तरह बाकी जानवर भी आकर खेलने के लिए मान गए हैं । खरगोश ने पूछा मैं पर हम क्या खेले ? और कौवा ने बोला बताता हूं मैं बहुत बूढ़ा हो गया तो खेल नहीं पाऊंगा । आप लोग खेलो मैं बताता हूं बताता हूं । मैंने आसपास बहुत से स्वतंत्र छुपा दिए हैं ।

Also Read :   KIDS STORIES

आप सबकी अलग अलग टोकरी है । अब इस टोकरी में आप उन संतरों को ढूंढकर डालिए जो जीतेगा उसे मैं इनाम दूंगा । यहां सभी बहुत खुश हुए और खेलना शुरू किया । छोटे हाथी को बहुत जल्द संत प्रेम मिल गए मगर उसकी छोटी सी टेकरी में एक बड़ा सा छेद भी था जिसे उसने नहीं देखा । जैसे ही हाथी उसमें अपना संतरा डालता टुकड़ी से बाहर निकल जाता ।

शेर लोमड़ी और घोड़ा खरगोश को बिलकुल भी संतरा नहीं मिल रहा था जिसे भी वह संतरा जो भी हाथी का गिरा हुआ संतरा पाता अपनी टोकरी में डाल लेता और इस तरह सारे संतरे मिलने के बावजूद भी छोटे हाथी की टोकरी खाली की खाली ।

Also Read  :   SAD STORIES

अंत में वह यह देख बहुत जोर से रोने लगा  और हू हू हू ब हू इतनी मेहनत की कहां गए मेरे संतरे तो सभी ने बोला अरे रोना बंद करो क्यों रो रहे हो । हाथी में बोला मैंने इतने सारे संतरा ढूंढे पर यहां तो एक भी नहीं है । यह सब देख सभी जोर जोर से हंसने लगे । कौवा ने कहा मैं ऊपर से बैठकर सब देख रहा हूं ।

Also Read :   MORAL STORIES

तुमने जितने संतरे उठाए तुम्हारी टूटी टोकरी के कारण वह बाहर निकल गए और बाकी कुछ जानवरों ने तुम्हारे संतरे ले लिए क्यों क्यों मैंने ठीक कहा ना तो सभी जानवर ने कहा हमें माफ करो मुझे माफ कर दूं । इस तरह जानवरों ने माफी मांगी और बेचारे छोटे हाथी को उसके संतरे लौटा दिए और छोटा हाथी बना विजेता, और उसने बोला मैं बहुत खुश हूं । मैं जीत गया ।

तो बच्चों इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलता है कि हमें सभी को सहायता का हाथ बढ़ाना चाहिए जो कि हमसे छोटा हो और दूसरों की मदद करना बहुत अच्छा होता है ।

कहानी कैसे लगा कमेंट करके जरुर बताना!

Also Read :   LOVE STORIES

Also Read :   HORROR STORIES

Default image
admin
Articles: 33

Leave a Reply