Life Changing Story In Hindi – बदला वक्त

बदला वक्त

निशा एक विधवा लड़की थी। कोई औलाद नहीं थी लेकिन वक्त से पहले ही पति का देहांत हो जाता है फिर उसकी ज़िन्दगी में रोहन आता है। (Life Changing Story In Hindi – बदला वक्त)

निशा रोहन से -तुम्हारी पहली शादी में क्या प्रॉब्लम थी। 

रोहन का माँ -औरे चोर थी वो लड़की। शादी के अगले दिन ही हमारे घर के सारे जेवर और पैसे लेकर भागा गयी। रास्ते पर आ गए थे हम दोनों। फिर मैं सिरे से शहर में हम मां बेटे ज़िन्दगी बसाने की कोशिश कर रहे हैं।

निशा – ओहो मुझे माफ करिएगा। ये तो बड़ा ही बुरा हुआ। 

Life Changing Story In Hindi - बदला वक्त

रोहन का माँ -हां हुआ तो लेकिन बार बार इस बात पर बात ना हो निशा बहु वही अच्छा रहेगा। और किसी से कुछ कहने सुनने की कोई ज़रूरत भी नहीं है। 

लेकिन एक दिन अचानक रात में रोहों छीलता हुआ भागो भागो घर में आग लग गया, और सारा सामान जल गया।

निशा रास्ते पर खड़ी सोच रही थी। मेरी मेहनत की कमाई से बना पूरा घर जलकर खाक हो गया है। 

So you Read (Life Changing Story In Hindi – बदला वक्त)

रोहन का माँ -अरे बहु परेशान होने की जरूरत नहीं है। जब तक घर फिर से ठीक नहीं हो जाता। रोहन मैं और तू होटल में रहे लेंगे। अरे मेरे पास कुल जमा पूंजी है।

कुछ दिनों बाद रोहन का माँ निशा से कहता हैं निशा उस मकान में तो कुछ भी नहीं बचा लेकिन अच्छी बात ये है कि बीमा वालों ने हमलोगों को जमीन सहित पूरा जला मकान लेकर एक करोड देने की बात की है। 

निशा – औरे बाह ये तो बहुत बड़ी रकम है इससे तो हम  फिर से उससे भी अच्छा मकान बना लेंगे। 

रोहन का माँ – हां निशा अब हम लोगों के बुरे दिन खत्म हो गए। 

और फिर एक दिन एक पेपर लाके रोहन निसको कहता हैं अब इस पेपर पर साइन कर दो निशा। निशा बिना देखे रोहन ने जिस पेपर पर कहां साइन करती चली गई। फिर एक दिन 

रोहन का माँ -अरे रोहन बेटा, बहुत दिन हो गया मंदिर दर्शन करने नहीं गई, ले चलना जरा मंदिर। 

रोहन- हाँ मा लेकिन घर में सामान रखा है। यू लॉक लगा कर जाना ठीक नहीं होगा। 

निशा -अरे आप जाइए नामाजी को दर्शन करवाकर लाइए मैं यहीं रहती हूं। तो रोहन ने कहा तो थिक हैं मैं और मां जल्दी घर लौटकर आते हैं। 

So you Read (Life Changing Story In Hindi – बदला वक्त)

फिर क्या था दो घंटे तीन घंटे पूरी शाम और फिर रात के बाद अगली सुबह कोई कमरे में वापस नहीं आता। थोड़ी देर बाद रोहन का फोन आता है और उसने कहा निशा तुम अच्छी लड़की हो इसलिए फोन कर रहा हूं। 

मैं और मां बीमा के एक करोड़ लेकर दूसरे शेयर जा रहा हूँ, हमें ढूंढ़ने की कोशिश मत करना। 

अब तक निशा समझ चुकी थी कि पहले पति की मौत के बाद दूसरे पति से उसे धोखा मिला है। पूरी तरह से टूट चुकी निशा को होटल वाले पैसा ना देने के कारण निकाल देते हैं। 

निशा – अब कहा जाऊ पैसे भी नहीं है और कोई रिश्तेदार भी नहीं। 

तभी उसे एक होटल के बाहर नौकरी का बोर्ड लगा दिख जाता है। और उसने बहा जेक कहता हैं सुनिए मुझे इस नौकरी की तलाश है। 

होटल का मालिक -थिक है पर तुम्हे  सुबह छह बजे उठकर रात के बारह बजे तक काम करना होगा। बदले में तुम्हें थोड़े पैसे खाना और पीछे वाले कमरे में रहने की जगह मिल जाएगी।

निशा जो कि पढ़ी लिखी लड़की थी। सोचा जब तक अच्छी नौकरी नहीं मिल जाती ये काम करना कोई गलत बात नहीं होगी। और फिर उसने कहा हाँ मुझे मंजूर है।  

अब निशा कड़ी मेहनत करती उसके हाथ का खाना लोगों को पसंद आने लगता है। फिर एक दिन खाना खाते हुए आनेवाले एक ग्राहक ने कहा आरे खाना किसने बनाया है? मुझे उससे मिला है। 

So you Read (Life Changing Story In Hindi – बदला वक्त)

Also Read Hindi Kahaniya – मास्क वाला का सफलता – Hindi stories

होटल का मालिक -हां आज जरूर मिलेगा लेकिन वो हमारे परमानेंट खाना बनाने वाली नहीं है माम्। मैं अभी उसको बहार निकल देता हूँ। और उसने निशा को बुलाते हुए कहा ोी निशा जल्दी बहार आजा। 

निशा भी डर कर बाहर आती है सर झुका कर निशा कहती हैं मुझे माफ कर दीजिए। मुझे इस नौकरी की बहुत जरूरत है। मुझसे गलती हो गई।

होटल का मालिक –  जल्दी निकल यह से। 

निशा – लेकिन मेरी गलती क्या हैं ?

होटल का मालिक – इन मैडम को तेरा खाना अच्छा नहीं लगा। 

उस औरत को अब गुस्सा आ जाता है। और उसने कही क्या मैंने ये कहा की इसका खाना मुझे अच्छा नहीं लगा।  मुझे तो इसका खाना इतना अच्छा लगा कि मैं इसी इनाम देना चाहती थी लेकिन अब तो मैं इसे अपने साथ अपने घर लेकर जारी हूं। 

निशा भी उस महिला के साथ उसके घर को चली जाती है। 

अब निशा के पास वक्त होता है कि वो अच्छी नौकरी की तलाश कर सके। वो रिज्यूम डालती और नौकरी के इंटरव्यू का इंतजार करती थी। फिर एक दिन 

निशा – औरे बाह ये नौकरी का इंटरव्यू! मैंने तो कभी सोचा ही नहीं था कि मेरी जिन्दगी में इस जगह से भी कॉल आ सकता है। लेकिन मेरे पास ऐसी कोई कपडे है ही नहीं। 

निशा अपने बचाए पैसे को लेकर कपड़े लेने जा ही रही होती है कि रास्ते में उसे एक अच्छी घर का लेकिन थोड़ी फटेहाल हालत में एक लड़का पैसा मांगता दिखता है। 

अनजान लड़का -प्लीज़ कुछ पैसों की मदद कर दीजिए। मेरी नौकरी लगते ही में  वापस कर दूंगा। मैं पढ़ा लिखा इंसान हूँ, बस वक्त और हालात का मारा हुआ हूं।

निशा को उसे देखकर अपने दिन याद आते हैं कि कैसे वो भी रास्ते में आ गई थी। 

फिर उसने अपने सरे पैसा दे दिए और कहा ये लोग सारे रख लो। 

अनजान लड़का -ये तो किसी काम के पैसे लगते हैं। 

निशा -हां वो कल मेरा एक जॉब इंटरव्यू है। पैसे जमा किए थे कि अच्छे कपड़े ले लूंगी। फिर कोई बात नई नौकरी लगी होगी तो मेरी योग्यता के दम पर लगी जाएगी, पैसों की जरूरत मुझसे ज्यादा तुम्हें है। 

फिर क्या था जैसे ही वो लड़का पैसे लेता है ढेर सारा मीडिया का कैमरा और माइक उन लोगों के सामने आ जाता है। निशा घबरा जाती है। 

निशा – मैंने कुछ नहीं किया है। 

लड़का अपना मेकअप उतारता है।

निशा – निसा उसे पहचान लेता हैं और कहता हैं ओहो तुम तो वो हीरो होना रोहित कुमार। माफ कीजिए मैंने आपको पहचाना नहीं।

रोहित कुमार-दरअसल मैंने अपना भेष बदला था। में अभी शादी के लिए लड़की की तलाश कर रहा था।

निशा -आपको क्या कमी है लड़कियों की?

 रोहित कुमार-हां पता नहीं है लेकिन वो असल ज़िंदगी में कैसी होगी ये मैं नहीं जानता। इसलिए मैंने ये नाटक किया कि कोई साफ दिल की लड़की मुझे मिल जाए। तुम सच में बहुत अच्छी हो।

निशा – औरे नहीं नहीं वो तो मैंने इसलिए मदद की क्योंकि ये वक़्त मैं भी में देख चुकी हूं। 

So you Read (Life Changing Story In Hindi – बदला वक्त)

Also read Motivational Stories With Moral-संजू का ट्रेन वाली बस

 रोहित कुमार– हां तुम्हें अपना बुरा वक्त याद है और तुम उस हालत में किसी को नहीं देखना चाहती। तुम्हारे पास जो कुछ जमापूंजी थी तुमने मुझे दे दी। फिर इससे ज्यादा साफ दिल और क्या हो सकता है। क्या तुम मुझसे शादी करोगी?

निशा -लेकिन मेरी पुरानी जिन्दगी में सब ठीक नहीं रहा है। 

वो रोहित कुमार को सारी बात बता देती है। 

 रोहित कुमार –देखो मुझे तुम्हारे पास्ट से कोई लेना देना नहीं है में फिर भी तुमसे शादी करना चाहता हूं। क्या तुम मुझसे शादी करोगी?

निशा भी शादी के लिए मान जाती है और एक अच्छी जिन्दगी जीने लगती है।

Default image
Dhruba Mandal
नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम हैं ध्रुब मंडल में ओड़िसा के एक छोटे से गाँव में से हूँ और इस ब्लॉग संस्थापक हूँ. में एक ग्रेजुएट स्टूडेंट हूँ. और मुझे टेक्नोलॉजी, एजुकेशन, लाइफ स्टाइल के बारे में लिखना ज्यादा पसन्द आता हैं.
Articles: 37

3 Comments

  1. […] Also read Life Changing Story In Hindi – बदला वक्त […]

  2. […] Also Read Life Changing Story In Hindi – बदला वक्त […]

Leave a Reply