Moral Stories For Kids-सोने का समोसा

Moral Stories For Kids-सोने का समोसा

रामगढ नाम के गांव में लक्ष्मण नाम के एक आदमी का गांव के चौराहे में छोटा सा समोसे का होटल था । लक्ष्मण ईमानदार था  वह अपना और अपने परिवार का गुजारा उसी समोसा का होटल से करता था । एक दिन उसके होटल के सामने एक दूसरा आदमी विदेशी किस्म के समोसे का होटल शुरू करता है । लक्ष्मण ये सब देखकर थोड़ा परेशान होता है और होटल में समोसे खाने आए हुए आदमी उसे बात करता है । So You Read (Moral Stories For Kids-सोने का समोसा)

moral stories for kids,neethi kathalu,moral story in hindi,short moral stories in hindi

आदमी– अरि यरी ये क्या नया होटल। हाँ भईया आज कल तो कॉम्पटीशन का जमाना है । यह मत समझना कि सेट हो गया तो हो गया बाजार पर तुम्हारा कब्जा। 

लक्समन-सही कह रहे हो भाई कॉम्पिटिशन सही में बढ़ गया । 

आदमी-कुछ करों लक्ष्मनभाई बरना अब धंधा मंदा हो जाएगा । लक्ष्मन सामने वाले नये होटल के मालिक से मिलने जाता है। और कहता है अरे भाई साहब आपके इस होटल के लिए बहुत बहुत बधाई । लेकिन मैं एक बात कहना चाहता हूं आपसे उस दुकानदार ने कहा हाँ बोलो क्या कहना हैं तुम्हे हामारा पास ज्यादा टाइम नहीं है । आज शाम को ही ये होटल की ओपनिंग है । 

लक्समन-आपके होटल के सामने मैं 10 सालों से समोसे बेचता आया हूं अब आप आ गए तो धंधे में कॉम्पिटिशन बढ़ गया । इस वजह से न आपका न मेरा धंधा ठीक से हो पाएगा सर । 

So You Read (Moral Stories For Kids-सोने का समोसा)

Also Read: Best Inspirational Stories With Moral-प्रेरणादायक कहानी – नज़रिया

दुकानदार-अब तू कौन हैं मुझे धंधा सिखाने वाला जाकार अपने टपरे संभाल वरना इसे गायब कर दूंगा कि पता भी नहीं चलेगा । 

लक्ष्मण की बेइज्‍जती करके नया होटल का मालिक उसे वहां से निकाल देता है । नया होटल शुरू होता है और लोग वहां पर विदेशी किस्म का समोसा खाने के लिए भीड़ कर देते हैं । लक्ष्मण यह सब दूर से देखता रहता है । तभी लक्ष्मण का दोस्त आता है और कहता है । अरे ऐसे ही देखते रहोगे लक्ष्मन या कुछ करोगे भी कुछ करो कुछ तो करो । लक्समन ने कहा लेकिन मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा कि मैं क्या करूं ।

लक्ष्मन अपने समोसे का होटल बंद करके घर आता रहता है । तभी एक दुकान के टीवी में विज्ञापन देखता है । उस विज्ञापन में रहता है बड़े कूकर के साथ एक छोटा कूकर फ्री फ्री फ्री । ये देखकर लक्ष्मण को एक आइडिया आता है । वह दूसरे दिन ढेर सारे समोसे बनाता है और होटल के सामने एक बड़ा सा बैनर लगाता है जिसमें लिखा है लकी गोल्डन समोसा कांटेस्ट। आज के समोसे के बीच गोल्डन समोसा छुपा हुआ है जिस किसी को भी वो गोल्डन समोसा मिलेगा, गोल्डन समोसा उसका हो जाएगा और साथ साथ एक साल के समोसे भी उसे फ्री में दिलाए जाएंगे । 

So You Read (Moral Stories For Kids-सोने का समोसा)

Also Read: Moral Stories For Kids – माँ के जादुई बादाम – Hindi Kahaniya

लक्ष्मन जोर जोर से कहने लगता है अरे आओ आओ और गोल्डन समोसा ले लो साथ में साल भर के समोसे रोज फ्री में खाओ । ये पढ़ कर नया होटल मालिक चौंक जाता है और लक्ष्मण को रोकने के लिए अपने एक आदमी को उसके होटल में समोसे लेने बेचता है । वो आदमी जाता है और उस समोसे में मरे हुए कॉकरोच डालता है और चिल्लाने लगता है । 

और सुनो सुनो गाओ वालो ये लक्ष्मण तो गोल्डन समोसा का लालच देकर आपकी जिन्दगी के साथ खिलवाड़ कर रहा है । यह देखिए लक्ष्मण के समोसे में दो काकरोच निकले।  फैसला अभी आपको करना है गांववालों गोल्डन समोसा चाहिए या आपकी सेहत । ये सुनते ही लक्ष्मण भी सोच में पड़ता है और तभी उसका दोस्त आता है और कहता है । और नहीं नहीं  वालो  यह नया होटलों का मालिक झूठ बोल रहा है । लक्ष्मण के समय समय कोई काकरोच नहीं । इसका सबूत मेरे पास है यह रहा सबूत। 

मैंने चुपके से उस आदमी को लक्ष्मण के समोसे में काकरोच रखते हुए अपने फोन पर विडियो रिकॉर्ड किया है । ये तो नए होटल के मालिक की लक्ष्मण का होटल बंद करने के लिए एक चली हुई चाल है । लक्ष्मण के दोस्त का वीडियो सारे गांववाले देखता है और नए होटल में जाकर उसे तोड़ देता है।  और लक्ष्मण के होटल में आकर समोसे खाते  हैं। 

शिक्षा 

यह कहानी से हमें ये सिख मिलता है की किसीके लिए बुरा सोच ने वाला के साथ हमेसा बुरा ही होता हैं। तो दोस्तों  किसीके लिए  बुरा मनभाव कभी रखना नहीं चाहिए  और सबसे अच्छा बर्ताब करना चाहिए। 

So You Read (Moral Stories For Kids-सोने का समोसा)

Also Read: Bhutiya Kahani – भूखी चुड़ैल – The Hungry Witch

Default image
Dhruba Mandal
नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम हैं ध्रुब मंडल में ओड़िसा के एक छोटे से गाँव में से हूँ और इस ब्लॉग संस्थापक हूँ. में एक ग्रेजुएट स्टूडेंट हूँ. और मुझे टेक्नोलॉजी, एजुकेशन, लाइफ स्टाइल के बारे में लिखना ज्यादा पसन्द आता हैं.
Articles: 37

One comment

  1. Hello there! This post could not be written any better! Reading through this post reminds me of my old room mate! He always kept talking about this. I will forward this write-up to him. Fairly certain he will have a good read. Thanks for sharing! Aeriell Georgi Ard

Leave a Reply